Thursday, 1 November 2018

Good morning messege GST TAX Real Or Fake

Good morning messege GST TAX  Real Or Fake


Good morning message GST tax 100% Fake 

 आज कल social media खबर वायरल हो रही है  यह एक अख़बार में बताया गया  है कि गुड मॉर्निंग मैसेज पर 18% GST TAX लगेगा।  इस खबर के अनुसार 1 अप्रैल से जो गुड मॉर्निंग मैसेज भेजे जाएंगे सरकार उनपर टैक्स लगाएगी। मोबाइल संचार मंत्रालय के चीफ सेक्रेटरी लेखपाल के अनुसार आप जो भी गुड मॉर्निंग मैसेज भेजेंगे वॉट्सएप मैसेंजर उनका हिसाब रखेगा। ऐसे मैसेज पर 18 परसेंट जीएसटी तय किया गया है जिसका महीने के अंत में बिल बनेगा और मोबाइल बिल के साथ उसका पेमेंट करना होगा

अखबार में GST लागू करने की कारण भी दिया गया  है। लिखा है कि सरकार ने यह फैसला उस रिपोर्ट के सामने आने के बाद लिया है जिसके अनुसार सुबह-सुबह लाखों गुड मॉर्निंग मैसेज भेजे जाने की वजह से भारत में इंटरनेट स्लो हो जाता है। भारत विश्व का इकलौता ऐसा देश है जहां इंटरनेट के साथ ऐसा हो रहा है। ऐसे में टैक्स लगाने से लोग गुड मॉर्निंग मैसेज कम भेजेंगे और इंटरनेट की स्पीड सुधर जाएगी। अगर इसके बाद भी स्थिति नहीं सुधरी तो गुड मॉर्निंग मैसेज रिसीव करने वाले को भी टैक्स के दायरे में लाया जाएगा

अखबार की कटिंग में खबर के अलावा तारीख या नाम नहीं लिखा हुआ था। लेकिन अखबारों में काम करने वाले लोगों को पता होता है कि हर अखबार की एक खास लिखावट और लेआउट होता है। बस यहीं से इस अखबार के बारे में अंदाजा लगा। ऐसी लिखावट और स्टाइल नव भारत टाइम्स यानी NBT अखबार की है। क्रॉस चेक किया गया तो अंदाजा सही साबित हुआ। एनबीटी के 2 मार्च के दिल्ली एडिशन में ये खबर सबसे ऊपर छपी हुई थी। जो वॉट्सएप से लेकर social media पर viral हुई। लेकिन अखबार के नीचले हिस्से में लिखा था कि बुरा ना मानो होली है। यानी होली के दौरान मजाक की तरह खबर छापी गई थी। यानी इस खबर की कोई सच्चाई नहीं है। वायरल हो रही खबर पूरी तरह से झूठ है।

गुड मॉर्निंग मेसेज पर 18% GST वाली खबर पूरी तरह  से गलत है



2 comments: